लालची दूध वाला और चाय वाला | Lalchi Dudhwala

लालची दूध वाला और चाय वाला | Lalchi Chaiwala | Hindi Kahaniya


लालची दूध वाला और चाय वाला | Lalchi Chaiwala


रेवत नगर के गांव में एक मोनू नाम का लड़का चाय की दुकान चलता हैं वो अपने दुकान पर अलग अलग तरह की चाय बेचता था जैसे अदरक चाय मसाला चाय निम्बू की चाय और भी अलग अलग पसंद की चाय बेचता था | 

इसके अलावा भी ग्राहक की पसंद के अनुसार बिना चीनी की चाय भी वो बना कर देता था | 


इस वजह से गांव वाले उसके यहाँ चाय पिए बगैर घर नहीं जाते थे मोनू की दुकान पर गुड्डू नाम का आदमी दूध दिया करता था dadi maa ki kahaniyan लालू बड़ा ही लालची था रोज मोनू की दुकान पर दूध पहोचा कर वो सोचता था चाय बनाने के लिए सबसे जरूरी होता हैं दूध रोज इसे दूध में पहुँचता हु अगर महीने भर में तीन सो रूपये मुझे मिलता हैं मोनू दूध में यह वो मिलाकर दिन का हजार रूपये कमा रहा हैं मुझे भी किसी तरह मेरा मुनाफा बढ़ाना ही पड़ेगा | 

लालची दूध वाला और चाय वाला | Lalchi Chaiwala

कुछ समय बाद गुड्डू दूध में अच्छी तरह पानी मिलाना शुरू कर दिया एक दिन गुड्डू दूध मिला रहा था की एक औरत ने उसे देख लिया और औरत ने बोला क्यों भाई गुड्डू दूध में पानी क्यों मिला रा हैं  गुड्डू बोलै अरे क्या बात कर रहे हो दीदी में और दूध में पानी। ..... ऐसा कहोगी न तो में दूध देना ही बंद कर दूंगा | फिर जाना पास वाले गांव में दूध लेने | यह सुनकर औरत चुप हो गई | 


और इससे गुड्डू को काफी मुनाफा होने लगा  एक दिन मोनू की दुकान पर दूध देने के बाद गुड्डू सोचने लगा की में दूध  में पानी मिला कर दे रहा हु फिर भी इसका धंधा मंदा नहीं हुआ मतलब क्या निकलता हैं चाय किसी भी बनाओ लोग पिएंगे क्यों न में भी एक चाय की दुकान खोल लू | यह पानी मिलकर दूध बेचने से ज्यादा तो चाय बनाकर बेचने में ज्यादा मुनाफा होता हैं | 




कुछ दिन बाद उसने मोनू की दुकान के सामने अपनी एक चाय की दुकान खोल ली शुरुवात में कई लोग उसकी दुकान पर चाय पिने गए पर मोनू को इस बात का बुरा नहीं लगता था इधर गुड्डू का धंधा अच्छा चलने लगा पर फिर उसमे लालच जाग उठा | उसने चाय बनाने में लापरवाही करना चालू कर दिया अदरक वाली चाय में अदरक नहीं होती और कभी कभी चाय में मक्खी गिरी हुई होती और लोगो की शिकायत पर वो उनका गलत तरीके से जवाब देता था | 


लोगो ने  उसके बिगड़ते व्यवहार की वजह से दुकान पर जाना बंद कर दिया | ऐसा ही चल रहा था की एक गुंडों की गैंग उसकी दुकान पर आ गई लालू ने डरते हुए उनको चाय परोसी उसकी चाय पि कर गैंग के लीडर ने बोला तुम्हे हम कही दिन से देख रहे हैं तुम्हारे जैसे ठग को हमें हमारी गैंग में जरूरत हैं तुम चलो हमारे साथ | 

पर गुड्डू ने मना कर दिया पर वो लोगो उसकी जबरदस्ती ले गए कुछ दिन बाद पुलिस ने उन लोगो को पकड़ लिया | bhoot pret ki sachi kahaniyan और जेल में भी डाल दिया गुड्डू को भी उनके साथ जेल में रहना पड़ा | 

शिक्षा आदमी को लालच कभी नहीं करना चाहिए कहते हैं लालच बुरी बाला हैं। 

For Best Shayari & Quotes Click Here

Post a Comment

0 Comments

close