जादुई छड़ी | Jadui Chhadi in Hindi

जादुई छड़ी | Jaadui Chhadi ki Kahani | Saat Pariyon ki Kahani | Hindi Kahaniya

जादुई छड़ी | Jaadui Chhadi ki Kahani | Saat Pariyon ki Kahani

Jadui Chhadi - एक समय की बात हैं मोनू अपने घर में आराम से सो रहा था | की अचानक से कमरे की खिड़की अपने आप खुल गई और  खिड़की पर जोरदार बिजली चमकी |  

यह देखकर मोनू डर गया उसने देखा की औरत हवा में उड़ रही थी | वह औरत उड़ते हुए खिड़की के पास आ गई और मोनू से बोली की तुम एक नेक लड़के हो | इसीलिए में तुम्हे कोई तोहफा देना चाहती हु | यह सुनकर मोनू बहोत खुश हो गया | 

उस औरत ने मोनू को एक जादुई छड़ी देते हुए बोला की यह एक जादुई छड़ी हैं | और तुम इसे जिसके उप्पर भी घुमाओगे वह चीज वह से गायब हो जाएगी | मोनू दूसरे दिन ही उस जादुई छड़ी को अपने स्कूल ले गया | उसने वह मस्ती शुरू कर दी


मोनू के दिमाग में एक शैतानी विचार आया उसने उस जादुई छड़ी से अपने अध्यापक की किताब गायब कर दी और कई बच्चो के बैग रब्बर पेन पेंसिल भी गायब कर दी | किसी को पता नहीं चल रहा था की यह मोनू की जादुई छड़ी की करामात हैं | 

जब वह घर पंहुचा फिर उसकी हरकते बंद नहीं हुई जबकि और ज्यादा हरकते हो गई | मोनू को यह सब करके बहोत मजा आ रहा था | घर में दरवाजे के सामने एक टेबल रखी हुई थी | 
मोनू ने सोचा क्यों न इसे गायब किया जाये | मोनू ने जैसे ही टेबल के उप्पर छड़ी घुमाई तब मोनू की माँ गेट से निकल कर सामने से गुजरी और टेबल की जगह मोनू की माँ गायब हो गई | 

मोनू घबराहट के मारे रोने लग गया | इतने में ही वो औरत जिसने उसको वो छड़ी दी थी वो सामने आ गई | मोनू ने उस औरत से सारी बात कह दी तब उस औरत  ने कहा की में तुम्हारी को वापस तो ले आउंगी पर तुम्हे यह जादुई छड़ी लौटानी होगी | 

मोनू ने कहा तुम्हे जो चाहिए सब ले लो पर मेरी माँ को वापस ले आओ | तब उस औरत ने अपनी छड़ी को घुमाया और उसकी माँ वापस आ गई | मोनू ने उस औरत से शुक्रिया कहना चाहा पट वो गायब हो गई | मोनू रोते हुए अपनी माँ के गले लग गया | 

यह भी पढ़े 







टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां