Bhoot aur Chudail Ki Kahaniyan | भूतिया बच्चा | डरावनी चुड़ैल का सच ~ thekahaniyahindi

Bhoot aur Chudail Ki Kahaniyan | डरावनी भूतिया बच्चा | डरावनी चुड़ैल का सच


Bhoot aur Chudail Ki Kahaniyan | भूतिया बच्चा | डरावनी चुड़ैल का सच :- हेलो दोस्तों कैसे हो आप सब ? आपका फिर हाजिर हैं, एक नई भूतिया सच्ची कहानी के साथ। दोस्तों अगर आप Google पर अगर Bhoot Pret aur Chudail Ki Sachi Kahaniyan | | भूतिया बच्चा | डरावनी चुड़ैल का सच ढूंढ रहे हैं तो आप बिलकुल सही जगह आये हो।

आज की Bhoot Pret aur Chudail Ki Sachi Kahaniyan में हम आपके लिए डरावनी चुड़ैल का सच और भूतिया बच्चा की 2 कहानिया लेके आये हैं। Bhoot aur Chudail Ki Kahaniyan में हम आपको ऐसे रहस्य की सैर कराने जा रहे हैं, जिसमें प्रवेश करने के बाद लोग थर-थर कांपने लगोगे हैं।

यह भी पढ़े

ऐसा माहौल जिसमें डर लगना तो पक्‍का है। क्योकि यह नई भूतिया कहानिया बहोत ही खतरनाक हैं।

Bhootni Chudail Ki Story | डरावनी चुड़ैल का सच

चुड़ैल का सच - एक बार एक युवक जिसकी उम्र यही कोई 28 साल रही होगी, उसकी शादी हो चुकी थी और उसका हाल ही में एक बच्चा भी हुआ था। एक दिन वो किसी सुनसान रास्ते से घर आ रहा था। 

तभी उसके सामने एक बाँस की डाली गिरि, जिसमें एक चूड़ेल बेठी हुई थी। वो उसे दराने लगी और अपने साथ ले जाने की धमकी देने लगी। तो युवक ने उस से बोला की, नहीं मुझे जाने दो मेरे घर में मेरी पत्नी अकेली अपने बच्चे के साथ है मुझे जल्दी घर जाना है। 

तो चूड़ेल ने उस से बोला की तुम्हें एक ही सर्त पे घर जाने दूँगी, अगर तू मुझे भी अपने साथ रखेगा पत्नी बना के। उस युवक के पास और कोई चारा नहीं था इसलिए वो उसको अपने साथ घर ले आया। उसने अपनी पत्नी को पूरा वृतांत सुनाया।

उसकी पत्नी भी मजबूर थी इसलिए उसको भी चूड़ेल को अपने घर पर रखना पड़ा। युवक की पत्नी अपने बच्चे को बिस्तर में सुलाके काम करती थी। लेकिन जब बच्चा रोने लगता था तो उस के चुप करने से पहले ही चूड़ेल जाकर उसे उठा लेती और तेल से उसकी मालिश भी करती थी। 

ये सब उसकी पत्नी को अच्छा नहीं लगता था, उसे डर था की आखिर वो चूड़ेल है और इन्सानो को नुकसान जरूर पहुंचाएगी। इसके चलते वो अपने बच्चे को उस चूड़ेल से दूर ही रखती थी। एक दिन ऐसी घटना घटी की सब के होश उड़ गए। 

Bhoot aur Chudail Ki Kahaniyan | भूतिया बच्चा | डरावनी चुड़ैल का सच ~ thekahaniyahindi
डरावनी चुड़ैल का सच
युवक का बच्चा खो गया था वो कहीं नहीं मिल रहा था, सब लोगों ने जब उसे खोजा तो उसे एक नाले में मृत पड़ा हुआ पाया। ये देख कर उसकी पत्नी बिलक-बिलक कर रोने लगी और उस बच्चे की मोत का ज़िम्मेवार चूड़ेल को ठहराया।

जब युवक ने उस चूड़ेल से पुच्छा की क्या ये तुम्हारा काम है ? पहले तो चूड़ेल इन सब से इंकार करती रही लेकिन बाद में उसने ये बात स्वीकारी की उसने ही बच्चे को मार दिया और नाले में डाल दिया। 

ये सब उसने इसलिए किया क्योंकि उसकी पत्नी उसे बच्चे से दूर रखती थी इस कारण उसे गुस्सा आया और उसने बच्चे को मार दिया। 

ये सब सुनकर वो युवक बहुत निराश हो गया और रोने लगा। हमने तुम्हारा क्या बिगड़ा है जो तुम हमे परेशान कर रही हो। इतना सुनने के बाद उस चूड़ेल ने बच्चे को वापिस जीवित कर दिया और बोला की आगे से तुमलोग मुझे इस बच्चे से दूर नहीं रखोगे। 

Bhoot aur Chudail Ki Kahaniyan | भूतिया बच्चा | डरावनी चुड़ैल का सच ~ thekahaniyahindi

बस फिर क्या था वो चूड़ेल उस बच्चे का ख्याल रखने लगी और युवक की पत्नी ने डर के मारे सब कुछ देखने में ही भलाई समझी।

लेकिन सबसे बड़ी बात ये है की आखिर उस चुडेल ने क्यू एक परिवार का हिस्सा बनना चहा और उसका उस बच्चे के साथ क्या लगाव था?
ये आपको बाद मे पता चलेगा।

Bhoot aur Chudail Ki Kahaniyan | भूतिया बच्चा 

भूतिया बच्चादोस्तों सच कड़वे होते है यह तो आपने सुना ही होगा पर कुछ सच ख़ौफनाक भी होते है । इसी ख़ौफनाक सच को हमारे सामने vinay जी प्रस्तुत करने जा रहे है। 

vinay एक insurance company में काम करते है। उनकी कंपनी उनको एक जगह से दूसरे जगह clint से मिलने के लिए भेजती रहती है जिसके कारण वो अपना घर एक ठिकाने पर नहीं रख सकते थे| 

इस बार उन को नेपाल के छोटे से पहाड़ी इलाके में जाना था करीब 1महीनो के लिए इसलिए इस बार उन्होंने अपनी पत्नी को भी साथ ले लिया।

परिवार में सिर्फ वो और उनकी पत्नी ही रहती थी। विनय और उसकी पत्नी दोनों नेपाल के लिए निकल पड़े वैसे भी ठण्ड का मौसम था और नेपाल में ऊपर से बहुत तेज़ बर्फ पड़ रही थी। 

Bhoot aur Chudail Ki Kahaniyan | भूतिया बच्चा | डरावनी चुड़ैल का सच ~ thekahaniyahindi
 भूतिया बच्चा 
वो लोग अपने घर पहुँच चुके थे। अपने घर तक पहुँचने के लिए उनको बहुत संघर्ष करना पड़ा क्योंकि घर छोटे से गाँव में एक पहाड़ी इलाके में था। जिसकी वजह से दोनों बहुत थक चुके थे।

रात के 12:30 बज चुके थे। जहाँ वो रह रहे थे वहाँ दूसरे घर एक दुसरो से बहुत दूर दूर थे। बाहर ज़ोरो से ठंडी हवा और बर्फ गिर रही थी। दोनों अपने रजाई में दुबक कर आराम ही कर रहे थे की अचानक उनको लगा की किसी ने उनके घर का दरवाज़ा खटखटाया है। 

फिर उन्होंने सोचा की क्या पता तेज़ हवा चलने की वजह से ऐसा जो रहा हो इसी लिए उन्होंने उसको अंदेखा कर दिया। अगली सुबह विनय जिस काम के लिए आया था उसके लिए वो निकल पड़ा उसकी पत्नी घर में अकेले ही थी।

विनय की पत्नी घर में अकेले ही थी उसको समझ नहीं आ रहा था कि वो घर में बैठे वक़्त कैसे बिताए उसने सोचा की चलो क्यों न बाहर जा कर ही कुछ देख लिया जाए। बाहर ठण्ड तो थी पर हवा नहीं चल रही थी। 

Bhoot aur Chudail Ki Kahaniyan | भूतिया बच्चा | डरावनी चुड़ैल का सच ~ thekahaniyahindi
 भूतिया बच्चा 
इसी लिए उसने अपना स्वेटर पहना और बाहर निकलने को तैयार हो गयी जैसे ही उसने अपना घर का गेट खोला वैसे ही देखती है कि घर के पास बने एक खम्बे के पीछे एक छोटा सा बच्चा खड़ा है। जो उसको चुपके चुपके देख रहा है।

विनय की पत्नी ने उसको अपनी और बुलाया पर वो नहीं आया और वो वहाँ से भाग गया। अगले दिन भी कुछ ऐसा ही हुआ वो लड़का उसको फिर से घूरे देखा जा रहा था इस बार उसकी पत्नी ने उस बच्चे को पकड़ लिया और पूछा की तुम यहाँ क्या कर रहे हो।

उस बच्चे ने कुछ नहीं बोला और न ही कुछ बताया। विनय की पत्नी ने उससे उसके घर के बारे में पूछा तब भी वो कुछ नहीं बोल रहा था। आखिर में उसका नाम पूछने पर उसने अपने धीमी सी आवाज़ में अपना नाम सूर्य बताया और फिर वहाँ से भाग गया। 

उसको उसका व्यवहार कुछ समझ नहीं आया। ये सिलसिला ऐसे ही चलता रहा वो बच्चा रोज़ उसको खम्बे के पीछे से निहारता रहता था।

विनय और उसकी पत्नी को अपने नए घर 5-6 निकल चुके थे। उस दिन sunday की रात थी दोनों घर में अँगीठी के सामने आग ताप रहे थे क्योंकि बाहर की हालत बहुत ख़राब थी इतनी ख़राब की कोई थोड़ी देर के लिए बाहर निकल जाए तो उसकी जान चली जाए।

अचानक दरवाज़ा किसी ने खटखटाया उन दोनों को फिर से लगा की शायद हवा की वजह से ऐसा हो रहा हो। तभी फिर से किसी ने दरवाजा खटखटाया। इस बार खटखटाने की आवाज़ साफ़ आरही थी।

ये आवाज़ सुन कर दोनों डर गए क्योंकि इतनी रात को वो भी जान ले लेने वाली ठण्ड में आखिर कोन हो सकता है। दोनों केवल एक दूसरे का मुह देख रहे थे। 

अचानक दरवाज़े के बाहर से धीरे धीरे रोने की आवाज़ आने लगी। तभी विनय ने जोर से आवाज़ में बोला "कौन है बहार"

कुछ देर तक आवाज़ तो नहीं आई पर बाद में एक धीमी सी आवाज़ आई "दरवाज़ा खोलो"..... "कृपया करके दरवाज़ा खोलो, बहुत ठण्ड है।"

ये आवाज़ किसी छोटे से बच्चे की थी। तभी विनय की पत्नी को ये आवाज़ जानी पहचानी लगी उसने कहाँ कि ये तो वही बच्चे की आवाज़ लगती है जो रोज़ घर के बाहर खड़ा रहता था।

 विनय की पत्नी ने कहा कि हमें उसे अंदर लाना चाहिये। वो भागते हुए अभी दरवाज़े के पास जा ही रही थी की अचानक उनके घर के फ़ोन की घंटी बाजी। फोन एक पड़ोस में रहने वाली औरत का था जिससे आज ही विनय की पत्नी मिल कर आई थी।

Bhoot aur Chudail Ki Kahaniyan | भूतिया बच्चा | डरावनी चुड़ैल का सच ~ thekahaniyahindi
भूतिया बच्चा
विनय की पत्नी ने फ़ोन उठाया। वहाँ से उस औरत की आवाज़ आई "हेल्लो, जी मै आपको बताना भूल गई थी की अगर आपके घर के बाहर अगर कोई भी दरवाज़ा खटखटाए तो उसको मत खोलना।"

विनय की पत्नी ने कहा की "अभी मेरे घर जे बाहर एक बच्चे की आवाज़ आरही है जो दरवाज़ा खोलने को कह रहा है"

तभी उस औरत ने कहा कि " नहीं आप बिलकुल मत खोलना, वो असल में एक आत्मा है। यहाँ जब जब तेज़ आंधी और ठण्ड पड़ती है वो तब तब सबके घर के बहार जाता है और दरवाज़ा खोलने को कहता है।

 वो ठण्ड का बहाना बनाता है और दरवाज़ा खुलवाने की कोशिश करता है । अगर कोई गलती से भी दरवाज़ा खोल देता है तो वो अगले दिन बर्फ में दबा हुआ मिलता है।"

ये सुनते ही जैसे उनके पैरों से ज़मीन ही खिसक गयी। वो सोचने लगी की जो बाहर दरवाज़ा खटखटा रहा है वो असल में एक आत्मा है।

उन्होंने ने दरवाज़ा नहीं खोला अगले दिन ही वो दोनों भाग कर पडोसी के पास गए और पूरे मामले के बारे में पूछा। उस औरत ने बताया कि इस गाँव में एक परिवार रहता था पहाड़ टूटने की वजह से उस परिवार का विनाश हो गया बस एक बच्चा बच गया। 

वो दुसरो के घर जा जा कर खाना मांगता। एक दिन बहुत ज़ोरो से बर्फ की आंधी पड़ रही थी। वो दुसरो के घर के बाहर दरवाज़ा खटखटा कर घर के अंदर आने को गुहार लगा रहा था। 

पर किसी ने भी उसकी गुहार नहीं सुनी ठण्ड की वजह से सब अपने घरों में दुबके हुए थे। कल सुबह होने पर उस बच्चे की लाश बर्फ में अकड़ी हुई मिली।

आज भी कभी भी ज़ोरो से बर्फ की आंधी आती है तो उसकी आत्मा सबके घर के पास आती है और गुहार लगाती है। ये सब सुन कर दोनों हैरान रह गए।
लेकिन वो वहाँ 1 महीने जब तक रहे तब तक 3-4 बार उनके साथ ऐसा ही हुआ। लेकिन विनय का काम खत्म हो जाने पर वो वहाँ से चले गए।

पर विनय की पत्नी में दिमाग में एक रहस्य हमेशा बना रहा की उस घटना के बाद जो बच्चा उसे रोज़ घर के बाहर दिखता था वो कभी नहीं दिखा।

ये घटना विनय और उसकी पत्नी के लिए एक ऐसा ख़ौफनाक सच था जिसे उन्हें अपनाना ही पड़ा।


उम्मीद हैं दोस्तों आज पोस्ट Bhoot aur Chudail Ki Kahaniyan में यह 2 भूतिया स्टोरी भूतिया बच्चा और डरावनी चुड़ैल का सच आपको जरूर पसंद आई होगी। अगर पोस्ट पसंद आऐ, तो लाईक और शेय़र करने में शर्म महसुस न करें। आपके विचारो का भी य़हाँ स्वागत है।


धन्यवाद

Tags- bhoot chudail photo,  bhutiya kahani, bhoot video, bhoot cartoon

Post a Comment

0 Comments

close